पिछले महीने मेरा दलाल चाँद भाई मुझे दुबई ले गया। दुबई का शेख तो मुझे देखता ही रह गया। बुड्ढा था एक दम से मरियल से। हाथ भी नहीं लगाया उसने। बोला तू सिर्फ देखने की चीज़ है, छूने से मैली हो जायेगी । मुझे छोटे छोटे से कपडे पहना कर खूब सारी फोटो खींच ली। सिर्फ दो बार हाथ से मसल मसल का पानी झडाया उसका और ढेरों दिरहम मिल गए। फिर से जाएंगे दुबई।